CME
Menu

Heath Streak, legendary Zimbabwe cricketer, dies at 49 Hindi - हीथ स्ट्रीक, प्रसिद्ध ज़िम्बाब्वे क्रिकेटर, 49 वर्ष की आयु में निधन

author - Shubhamoy Majumder

क्या आप जानते हैं कि legendary Zimbabwe cricketer Heath Streak का हाल ही में निधन हो गया है? उनके अद्भुत क्रिकेट करियर को हिंदी में जानिए।

Heath Streak celebrating after taking wicket
Advertisement

हीथ स्ट्रीक, प्रसिद्ध ज़िम्बाब्वे क्रिकेटर, 49 वर्ष की आयु में निधन

हीथ स्ट्रीक दक्षिण अफ्रीका में उपचार प्राप्त कर रहे थे, जिन्हें उनके मित्र और परिजन कॉलन और जिगर के कैंसर के रूप में विवेचित किया गया था।

ज़िम्बाब्वे के प्रसिद्ध क्रिकेटर हीथ स्ट्रीक मंगलवार को कैंसर से लंबी लड़ाई लड़ने के बाद 49 वर्ष की आयु में निधन हो गए।

समाज में प्रतिक्रियाएँ

हेन्री ओलोंगा, पूर्व ज़िम्बाब्वे तेज गेंदबाज़ और स्ट्रीक के पुराने साथी और वर्तमान ज़िम्बाब्वे कप्तान, शॉन विलियम्स ने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म X पर अपनी शोक संवेदना व्यक्त की।

  • हेन्री ओलोंगा का कहना - "हीथ स्ट्रीक का इस दुनिया से चलना दुखद समाचार है। वे हमारे सबसे अच्छे ऑलराउंडर थे। आपके साथ खेलना एक सुखद अहसास था।"
  • शॉन विलियम्स ने लिखा - "स्ट्रीक, आपके और आपके परिवार ने हमारे और कई अन्यों के लिए क्या किया, उसके लिए शब्द नहीं हैं। हम आपको याद करेंगे।"

भारतीय ऑलराउंडर रविचंद्रन अश्विन ने लिखा, "हीथ स्ट्रीक अब हमारे बीच नहीं रहे। बहुत दुःखद।"

हीथ स्ट्रीक के करियर की झलक

स्ट्रीक ने ज़िम्बाब्वे को 65 टेस्ट और 189 वनडे में प्रतिनिधित्व किया।

  • शीर्ष विकेट लेने वाला गेंदबाज़ - वह अब भी ज़िम्बाब्वे के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ हैं।
  • रिकॉर्ड्स और उपलब्धियाँ - स्ट्रीक ज़िम्बाब्वे के पहले क्रिकेटर हैं जोने टेस्ट और वनडे में 100 से अधिक विकेट लिए।
  • बैटिंग की क्षमता - उन्होंने 1990 टेस्ट रन और 2943 वनडे रन बनाए।

स्ट्रीक ने 1993 में अपने टेस्ट और वनडे में प्रदर्शन की शुरुआत की थी। 2000 में उन्हें टीम के कप्तान के रूप में नियुक्त किया गया था।

उन्होंने 2001 में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ सीरीज़ जीतकर इतिहास रचा।

स्ट्रीक ने 2004 में बोर्ड के साथ विवाद के बाद कप्तानी छोड़ी।

2005 में वे वापस लौटे और उसी वर्ष सितंबर में अपना अंतिम टेस्ट मैच भारत के खिलाफ खेला। उसके बाद उन्होंने अंग्रेजी काउंटी टीम वार्विकशायर के लिए खेलना शुरू किया।

कोचिंग करियर

  • ज़िम्बाब्वे गेंदबाज़ों के कोच - स्ट्रीक को 2009 में ज़िम्बाब्वे टीम के गेंदबाज़ कोच के रूप में नियुक्त किया गया था। वह 2013 तक इस पद पर रहे।
  • दूसरा समर्थन कार्यक्रम - उनकी दूसरी अवधि ज़िम्बाब्वे समर्थन स्टाफ के रूप में 2016 से 2018 तक थी।
  • IPL की कोचिंग - स्ट्रीक ने 2018 में आईपीएल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के गेंदबाज़ कोच के रूप में सेवाएँ दीं।

निष्कर्ष

हीथ स्ट्रीक की मौत ने क्रिकेट जगत में एक बड़ी खाली जगह छोड़ दी है। उनकी उपलब्धियों और समर्पण की भावना को ज़िम्बाब्वे क्रिकेट और उनके प्रशंसक हमेशा याद रखेंगे। वह न केवल एक महान क्रिकेटर थे, बल्कि उनकी लीडरशिप और कोचिंग क्षमताएं भी उन्हें विशेष बनाती थी। उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए, हम उनके योगदान को मान्यता देते हैं और उनके परिवार को इस कठिन समय में साहस और शांति की कामना करते हैं।

Related Articles